Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV FilmyBaap Travel Contact Us Advertise More From Rclipse

BECA समझौते से इंडियन आर्मी को मिलेगा US सैटेलाइट नेटवर्क, दुश्मन ठिकानों पर सटीक निशाना लगा सकेगी सेना

4 weeks ago 12

भारत और अमेरिका के बीच मंगलवार को बेहद अहम समझौता होने वाला है। 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक के दौरान दोनों देशों के बीच बेसिक एक्सचेंज एंड कोऑपरेशन एग्रीमेंट फॉर जियो-स्पेशियल कोऑपरेशन (BECA) समझौता होगा। इससे दोनों देशों के बीच रक्षा के क्षेत्र में कूटनीतिक रिश्तों में करीबी आएगी।

ये समझौता होने से दोनों देशों का रक्षा सहयोग बढ़ेगा। वे मैप और सैटेलाइट को लेकर जियो-स्पेशियल (भूस्थानिक) जानकारी साझा कर सकेंगे। समझौते से भारत को स्थला-कृतिक (Topographical), समुद्री (Nautical) और एयरोनॉटिकल डेटा की एक सीमा तक पहुंच मिलेगी। इसके साथ दोनों देशों के नौसेनाओं के बीच सहयोग बढ़ाने के लिए मैरीटाइम इंफॉर्मेशन शेयरिंग टेक्निकल अरेंजमेंट (MISTA) पर भी साइन किया जाएगा।

अमेरिका के साथ द्विपक्षीय संबंध बेहतर: जयशंकर

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भारत के साथ होने वाली 2+2 मंत्रिस्तरीय बातचीत के लिए सोमवार को दिल्ली पहुंचे। उनके साथ पत्नी सुसेन भी आई हैं। पोम्पियो ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की। जयशंकर और पोम्पियो ने एशिया में स्थिरता और सुरक्षा को लेकर चर्चा की। दोनों के बीच द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर बातचीत हुई। जयशंकर ने कहा कि अमेरिका के साथ हर क्षेत्र में द्विपक्षीय संबंध काफी अच्छे हुए हैं।

यूएस-इंडिया 2+2 बैठक का इंतजार: पोम्पियो

पोम्पियो ने भारत दौरे के पहले दिन की फोटो साझा की। उन्होंने कहा- यह शाम दोनों देशों के बीच गहरे संबंध का साक्षी रहा। मुझे कल (मंगलवार) के यूएस-इंडिया 2+2 बैठक का इंतजार है।

Grateful to Indian Foreign Minister @DrSJaishankar for the warm welcome and hospitality on our first day in New Delhi. This evening was a testament to the deep bond between our nations and I am looking forward to tomorrow’s U.S.-India 2+2 Ministerial. pic.twitter.com/y7mJ18pr2a

— Secretary Pompeo (@SecPompeo) October 26, 2020

BECA समझौते पर सहमति

वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार दोपहर अपने अमेरिकी समकक्ष मार्क एस्पर के साथ करीब एक घंटे तक बातचीत की। दोनों ने BECA समझौता किए जाने पर सहमति जताई। इससे दोनों देश खुफिया जानकारियां और सूचनाएं भी साझा कर सकेंगे।

भारत रवाना होने से पहले माइक पोम्पियो ने ट्वीट कर बताया था कि वे भारत, श्रीलंका, मालदीव और इंडोनेशिया की यात्रा पर जा रहे हैं। उन्होंने इसका मकसद सहयोगियों के साथ मुक्त और मजबूत इंडो पेसिफिक एरिया बनाने के लिए साझा लक्ष्य तैयार करना बताया। उन्होंने यह मौका देने के लिए आभार भी जताया।

Wheels up for my trip to India, Sri Lanka, Maldives, and Indonesia. Grateful for the opportunity to connect with our partners to promote a shared vision for a free and open #IndoPacific composed of independent, strong, and prosperous nations. pic.twitter.com/IoaJvtsHZC

— Secretary Pompeo (@SecPompeo) October 25, 2020

दोनों देशों के बीच बातचीत में भारत समेत पूरे हिंद प्रशांत क्षेत्र और दुनिया में स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए वैश्विक रणनीतिक साझेदारी बनाने पर चर्चा होगी। यह इस तरह की तीसरी बैठक है। इससे पहले 2018 में दिल्ली और 2019 में वॉशिंगटन में दोनों देशों में बातचीत हुई थी।

क्या है BECA समझौता

‌BECA समझौता होने से भारतीय सेना अमेरिका के जियो-स्पेशियल मैप, इंटेलिजेंस और सैटेलाइट इमेज का इस्तेमाल कर सकेगी। आर्मी की पहुंच अमेरिकी सैटेलाइट के विशाल नेटवर्क तक होगी। इससे सेना ज्यादा सटीकता के साथ दुश्मन के ठिकानों को निशाना बना सकेगा।

बैठक में 4 मुद्दों पर होगी बात

क्षेत्रीय सुरक्षा सहयोगरक्षा क्षेत्र की सूचनाएं साझा करनापरस्पर सैन्य बातचीतरक्षा व्यापार

चीन के साथ तनाव के बीच अहम बैठक

भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए यह बैठक काफी अहम है। माना जा रहा है कि बैठक में चीन और पाकिस्तान पर ही ज्यादा फोकस किया जा सकता है। चीन से मिल रही चुनौती की वजह से अमेरिका भी उस पर ज्यादा आक्रामक है।

हाल ही में अमेरिका ने भारत से अपील की थी कि वह चीनी कंपनियों को 5G ट्रायल से बाहर रखे। ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने भारत में होने वाले 5G ट्रायल से चीन की हुवावे और जेडटीई को हटाने की बात कही है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के साथ उनकी पत्नी सुसेन भी भारत आई हैं।
Read Entire Article