Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV FilmyBaap Travel Contact Us Advertise More From Rclipse

6 दशक में देश को बाढ़ से 4.69 लाख करोड़ रु. का नुकसान हो चुका है

1 week ago 5

द एशियन डेवलपमेंट बैंक के अनुसार भारत में प्राकृतिक आपदाओं में बाढ़ सबसे ज्यादा कहर बरपाती है। देश में प्राकृतिक आपदाओं के कुल नुकसान का 50 प्रतिशत केवल बाढ़ से होता है। अभी असम में लगभग 90 प्रतिशत जिले बाढ़ से प्रभावित हैं जबकि लगभग 50,000 लोग राहत कैंपों में रह रहे हैं। यहां 2019 में भी बाढ़ ने भारी नुकसान पहुंचाया था। एक सप्ताह में ही लगभग 14 लाख लोग बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुए थे। राष्ट्रीय बाढ़ आयोग और असम सरकार की रिपोर्ट (2018) के अनुसार कुल भौगौलिक क्षेत्र 78.52 लाख हेक्टेयर में से 31.05 लाख हेक्टेयर अर्थात लगभग 40 फीसदी क्षेत्रफल सालाना बाढ़ से प्रभावित होता रहा है। ऐसा ही कुछ हाल बिहार का भी है। बिहार के राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार यहां के आठ जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। उत्तरी बिहार के इन आठ जिलों के लगभग 1 लाख लोगों को बाढ़ ने प्रभावित किया है। राज्य के बाढ़ प्रबंधन सूचना प्रणाली केंद्र के अनुसार उत्तर बिहार का 73.63 प्रतिशत भाग बाढ़ संभावित है। लगभग हर साल राज्य के 38 में से 28 जिलों में बाढ़ आती है। केंद्र सरकार की 30 जुलाई की बाढ़ स्थिति रिपोर्ट के मुताबिक करीब एक करोड़ लोग बाढ़ से प्रभावित हो चुके हैं। इनमें असम में करीब 57 लाख और बिहार में करीब 40 लाख बाढ़ पीड़ित हैं। वहीं, उत्तर प्रदेश में करीब 1.5 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। अब तक करीब 450 से ज्यादा लोग बाढ़ और भूस्खलन के कारण मर चुके हैं। सर्वाधिक मौतें पश्चिम बंगाल (209) में हुई हैं। एक तरफ देश के कुछ राज्य बाढ़ की मार झेल रहे हैं वहीं कुछ राज्य ऐसे भी हैं जहां अभी तक सामान्य बारिश भी नहीं हुई है। ऐसे में अगर अगले दो महीनों में भी यहां पर्याप्त बारिश नहीं होती तो जल सकंट खड़ा हो सकता है। आइए इस रिपोर्ट में जानते है कि देश में हर साल आने वाली बारिश और बाढ़ को लेकर इतनी असामान्य स्थिति क्यों है। राज्यों में आने वाली बाढ़ के प्रमुख कारण क्या हैं।

जानिए देश में हो रही बारिश और बाढ़ से जुड़ा सबकुछ : बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं ये तीन राज्य

मौसम विभाग के अनुसार असम, बिहार और पश्चिम बंगाल इस समय बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं। इनमें असम में लगभग 57 लाख और बिहार में बाढ़ पीडि़तों की संख्या 40 लाख है। वहीं पश्चिम बंगाल में 209 लोगों की मौत हो चुकी है।
इन 10 राज्यों में सामान्य से कम हुई बारिश
31 जुलाई को मौसम विभाग द्वारा जारी किए आंकडा़ें के अनुसार गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, दादर नगर हवेली और दमन एवं दीव सहित 10 राज्यों मंे अभी तक सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई है।

बाढ़ से 65 साल में ऐसे हुआ नुकसान

लोगों की मौत 1,09,414फसलों को नुकसान 25.8 करोड़ हेक्टेयरघरों को नुकसान 8,11,87,187कुल आर्थिक नुकसान 4.69 लाख करोड़

यहां सामान्य से अधिक हुई बारिश

राज्य
अब तक हुई बारिश सामान्य बारिश
असम 1041 875.3
प. बंगाल 810.4 747
बिहार 768.5 526.7
उत्तर प्रदेश 379.9 369:3
महाराष्ट्र 571 548

यहां अभी सामान्य से बारिश कम

राज्य अब तक हुई बारिश सामान्य बारिश
गुजरात 361.3 382.9
मप्र 390.8 443.9
छत्तीसगढ़ 550.9 581.2
राजस्थान 157.2 209.1
केरल 1082.1 1384
गुजरात 361.3 382.9
केरल 1082.1 1384
उत्तराखंड 531 600.7
केंद्र सरकार द्वारा जुलाई माह में जारी आंकड़ों के अनुसार असम, बिहार, पश्चिम बंगाल सहित महाराष्ट्र के कुछ इलाके बाढ़ से प्रभावित हैं। आईएमडी के 29 जुलाई के आंकड़ों के अनुसार इन आठ राज्यों में अभी तक सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई है। स्रोत: आईएमडी, आंकड़े 29 जुलाई, आंकड़े मिमी में

20 जुलाई तक की बारिश से हुई मौतों के आंकड़े...
नेशनल इमरजेंसी रेस्पाॅन्स सेंटर की 20 जुलाई की रिपोर्ट के मुताबिक प. बंगाल में 142, असम में 111, गुजरात में 81, महाराष्ट्र में 46, एमपी में 44, केरल में 25, उत्तराखंड में 19 लोगों की मौत हुई है।

आखिर असम और बिहार में बाढ़ क्यों आती है

असम: असम की सीमाएं भूटान, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश, ित्रपुरा, मेघालय और मिजोरम जैसे पहाड़ी राज्यों से मिलती हंै। यहां हुई बारिश का पानी सीधे असम के मैदानी इलाकों में उतरता है। सबसे ज्यादा प्रभाव ब्रह्मपुत्र और उसकी 35 सहायक नदियों का है। बिहार: बिहार की भौगोलिक परिस्थिति इसे बाढ़ग्रस्त राज्य बनाती है। नेपाल से सटे पहाड़ी इलाकों से इसके 7 जिले जुड़ते हैं। यहां हुई बारिश का पानी नदियों से होता हुआ बिहार में दााखिल होता है।

भविष्य के चौंकाने वाले आंकड़े...

60 करोड़ भारतीय 2050 तक पानी की गंभीर समस्या से जूझेंगे200 गुना बढ़ जाएगी लू यानी हीट वेव 2100 तक2.8 %जीडीपी का नुकसान हो सकता है देश को 2050 तक

विशेषज्ञों की क्या राय है: बिहार और असम में सुधरेंगे हालात, अगस्त में अच्छी होगी बारिश...

मौसम के अगर अगस्त माह की बात करें तो बिहार और असम में हालात थोड़े सुधर सकते हैं। बंगाल की खाड़ी में बनने वाले सिस्टम के कारण मध्य भारत के राज्यों जैसे मध्य प्रदेश, उड़ीसा, राजस्थान, छत्तीसगढ़ आदि में बारिश होगी। इसके साथ ही बिहार और असम में बारिश थोड़ी रुकेगी जिससे यहां स्थितियां सामान्य की ओर बढ़ेंगी। खासकर अगस्त का पहला सप्ताह जिसमें भरपूर बारिश देगा। ऐसे में जिन राज्यों में बारिश कम हुई है वहां पर बारिश सामान्य होने की स्थितियां बन रही हैं। - एयर वाईस मार्शल (सेवानिवृत्त) जीपी शर्मा, स्कॉईमेट



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें 4.69 lakh crore from floods in the country in 6 decades. Has lost
Read Entire Article