Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV DJ Rajasthani Travel Online Gaming Contact Us Advertise

सुशांत सिंह राजपूत को 'जानदार बंदा' मानते है दिलजीत दोसांझ, 'दिल बेचारा' को लेकर कही ये बात

1 day ago 1
Ads By Rclipse

बॉलीवुड गायक और अभिनेता दिलजीत दोसांझ ( Bollywood singer and actor Diljit Dosanjh ) का कहना है कि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ( Sushant Singh Rajput ) जानदार बंदा था। वह सुशांत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' ( Sushant's last film Dil Bechara ) को सिनेमाघरों में रिलीज करने की मांग कर रहे हैं। दिलजीत ने इंस्टाग्राम पर लिखा, तू वारी मिलेया सी मै वीर नू..जानदार बंदा सी यार। उन्होंने सुशांत की आखिरी फिल्म दिल बेखर का एक पोस्टर भी साझा किया, जो अगले महीने डिजिटल प्लेटफॉर्म ( digital platform) पर रिलीज किया जाएगा। हालांकि, ऐसा लगता है कि दिलजीत ओटीटी प्लेटफॉर्म पर सुशांत की आखिरी फिल्म रिलीज करने के फैसले से खुश नहीं हैं। उन्होंने कहा, इसे सिनेमाघरों में भी रिलीज होनी चाहिए। जब से सुशांत की आखिरी फिल्म की ओटीटी रिललीज की घोषणा हुई तब से उनके परिवारवाले और उनके फैंस इसको सिनेमाघरों रिलीज करने की मांग कर रहे है। ये सभी सोशल मीडिया के जरिए फिल्म के निर्माताओं से अपील कर रहे है। यह मूवी वे सिनमाघरों में देना चाहते हे।

Diljit Dosanjh

शेखर कपूर से होगी पूछताछ
मुंबई पुलिस अभिनेता सुशांत सिंह राजपुत की आत्महत्या मामले में फिल्मकार शेखर कपूर के बयान को दर्ज करेगी। पुलिस ने सुशांत की 'दिल बेचारा' फिल्म की सह कलाकार संजना संघी का भी बयान दर्ज किया। अभिनेता की अंतिम फिल्म 24 जुलाई को डिजिटल प्लेजफॉर्म पर रिलीज होगी। पुलिस ने अभिनेत्री से बांद्रा पुलिस स्टेशन में करीब सात घंटे तक पूछताछ की। शेखर कपूर के बयान को इसलिए दर्ज किया जाएगा, ताकि अभिनेता के तौर पर दिवंगत राजपूत की जिंदगी के साफ तस्वीर को सामने लाया जा सके। फिल्मकार पुलिस के लिए इस केस में काफी महत्व रखते हैं, क्योंकि वह एक समय यश राज के बैनर तले सुशांत के लिए महत्वाकांक्षी 'पानी' का निर्देशन करने वाले थे। इसके साथ ही शेखर कपूर ने सुशांत के निधन के बात ट्वीट किया था जो कई तरह के सवाल खड़े करता है।

शेखर कपूर ने किया था ट्वीट
शेखर कपूर ने ट्वीट कर कहा था, 'मैं जानता हूं कि तुम किस दर्द से गुजर रहे हो। मैं जानता हूं उन लोगों की कहानी, जिन्होंने तुम्हें इतनी बुरी तरह निराश किया कि तुम मेरे कंधे पर रोया करते थे। काश मैं पिछले 6 महीनों में तुम्हारे आस-पास रह पाता, काश तुम मुझसे बात कर पाते। तुम्हारे साथ जो हुआ वो तुम्हारा नहीं, बल्कि उन लोगों के कर्मों का फल है।'

Diljit Dosanjh
Read Entire Article