Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV FilmyBaap Travel Contact Us Advertise More From Rclipse

सुशांत का था चांद पर प्लाट, शाहरुख के पास भी, क्या वाकई चांद पर जमीन खरीद सकता है कोई

1 month ago 7

-दिनेश ठाकुर

सुशांत सिंह राजपूत ( Sushant Singh Rajput ) ने कभी ट्विटर पर अपने 50 सपनों का जिक्र किया था। यह सपने 'रोजा' के गीत 'दिल है छोटा-सा छोटी-सी आशा, मस्तीभरे मन की भोली-सी आशा, चांद-तारों को छूने की आशा, आसमानों में उडऩे की आशा' के भावों जैसे हैं। जमीन से चांद का फासला 3.84 लाख किलोमीटर से भी ज्यादा है। जाहिर है, फिलहाल आम आदमी का वहां पहुंचना मुश्किल क्या, नामुमकिन है। फिर भी सुशांत का एक सपना चांद की सैर करना था।

सुशांत का था चांद पर प्लाट, शाहरुख के पास भी, क्या वाकई चांद पर जमीन खरीद सकता है कोई

अंतरिक्ष और ग्रहों में उनकी दिलचस्पी का आलम यह था कि उन्होंने 55 लाख रुपए की अत्याधुनिक दूरबीन खरीद रखी थी, जिससे वे गृहों और तारों को निहारा करते थे। दो साल पहले धौलपुर के बीहड़ों में 'सोनचिडिय़ा' की शूटिंग के दौरान अक्सर वे दूरबीन से आसमान की तरफ टकटकी लगाए रहते थे। उनको लेकर 'चंदा मामा दूर के' नाम से फिल्म बनाने की भी तैयारी थी। उनकी आत्महत्या के बाद उनके बारे में जो ढेर सारी खबरें सामने आई हैं (और अब तक आ रही हैं), उनमें से एक यह है कि वे बॉलीवुड के इकलौते कलाकार थे, जिन्होंने चांद पर प्लॉट खरीद रखा था। वैसे शाहरुख खान ( Shahrukh Khan ) के पास भी चांद के कुछ प्लॉट्स हैं, लेकिन उन्होंने इन्हें खरीदा नहीं है। एक ऑस्ट्रेलियाई प्रशंसक कुछ साल पहले तक उनकी सालगिरह पर चांद का छोटा-सा प्लॉट खरीदकर उन्हें भेंट करती रही।

चांद पर ऑक्सीजन और पानी नहीं है। वहां इंसान का बसना शेखचिल्ली की कल्पना से ज्यादा कुछ नहीं है। फिर चांद के प्लॉट कौन काट रहा है और क्यों काट रहा है? चांद पर इंसान ने पहला कदम 1969 में रखा था। उससे दो साल पहले अंतरराष्ट्रीय आउटर स्पेस समझौता अमल में आ गया था। इस पर भारत ने भी दस्तखत किए थे। इस समझौते के मुताबिक चांद समेत समूचा बाहरी अंतरिक्ष साझा धरोहर है। इस पर कोई देश अपना दावा नहीं कर सकता।

अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक अनक्लेम्ड लैंड पर दावा जताने के लिए या तो दावेदार का उस पर भौतिक स्वामित्व होना चाहिए या उस पर नियंत्रण होना चाहिए। चांद के मामले में कोई इन शर्तों को पूरा नहीं करता। फिर भी कुछ धूर्त वेबसाइट चांद पर प्लॉट्स बेचने के कारोबार में जुटी हैं। यह जानते-बूझते हुए भी कि चांद पर किसी का मालिकाना हक नहीं है, लोग झांसे में आ रहे हैं। रईस लोगों के लिए यह स्टेटस सिम्बल से ज्यादा कुछ नहीं है। शाहरुख खान के पास चांद के प्लॉट्स के जो दस्तावेज हैं, उन्हें किसी लूनर रिपब्लिक सोसायटी ने जारी किया है। इसी तरह की एक लूनर रियल एस्टेट एजेंसी की वेबसाइट पर चांद पर एक एकड़ (करीब 4,047 वर्ग मीटर) के प्लॉट की कीमत 37.50 डॉलर (करीब 2800 रुपए) बताई जा रही है।

जिन्होंने चांद के टुकड़े खरीद रखे हैं, क्या कभी उन्होंने इन्हें बेचने की कोशिश की? शायद नहीं। बाजार में इस तरह के हवाई सौदों की कोई कीमत नहीं है। यह सिर्फ और सिर्फ अपने मन को मुदित रखने का उपक्रम है। जैसा कि गालिब ने कहा है- 'हमको मालूम है जन्नत की हकीकत लेकिन/ दिल के खुश रखने को गालिब ये ख्याल अच्छा है।'

Read Entire Article