Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV FilmyBaap Travel Contact Us Advertise More From Rclipse

मंत्री खाचरियावास बोले- जिन विधायकों को भाजपा जबरन रोक रही, वे वीडियो बनाएं और शेयर करें; सरकार 5 साल पूरे करेगी

3 weeks ago 2
Ads By Rclipse

मुख्यमंत्री गहलोत के आवास पर सोमवार सुबह विधायक दल की बैठक के लिए मंत्री औरविधायकों का पहुंचना शुरू हो गया है।बैठक में शामिल होने वाले विधायकों को पुलिस एस्कॉर्ट के बीच सुरक्षा में लाया गया। अब तक करीब 102 विधायक पहुंचने की चर्चा हैं, जिनमें 92 कांग्रेस और 10 निर्दलीय बताए जा रहे हैं।

वहीं, गहलोत सरकार मेंमंत्रीप्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा, ‘‘सरकार को कोई खतरा नहीं है। हमें109 से ज्यादाविधायकों का समर्थन है।जिन विधायकों को भाजपा द्वारा जबरन रोका जा रहा है, वेवीडियोबनाएं औरशेयर करें। राजस्थान में कांग्रेस सरकार अपने 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी।'’

उधर,कांग्रेस ने साफ किया कि आज की बैठक में शामिल नही होने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान श्रम मंत्री टीकाराम जूली खुद कार ड्राइव कर सीएम हाउसपहुंचे। बानसूर विधायक शकुंतला रावत औररामगढ़ विधायक सफिया जुबेर खान मुख्यमंत्री निवास पहुंचीं।

राजनीति के जानकार बताते हैं कि पायलट भले ही दावा करें कि उनके पास 30 विधायकों का समर्थन है,लेकिनमौजूदा हालात को देखते हुए उनके खेमे में 15 विधायक ही नजर आ रहे हैं। गहलोत सरकार के कद्दावर मंत्री बाकी विधायकोंसे संपर्क करने की कोशिश भीकर रहेहैं।

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में विधायकों को पुलिस एस्कॉर्ट में लाया गया।

मुख्यमंत्री आवास मेंखाने पर 115 विधायक पहुंचने का दावा
मुख्यमंत्री गहलोत ने रविवार रात सरकार के सभी मंत्रियों और विधायकों को सरकारी आवास पर खाने पर बुलाया।कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि सरकार के पास पूर्ण बहुमत है। उन्होंने कहा कि115 विधायक इस रात्रि भोज में शामिल हुए।इस बीच, कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी ने कहा कि भाजपा सरकारी एजेंसियों का गलत उपयोग कर रही है।सरकार बहुमत में है। उन्हाेंनेकांग्रेस नेताओं पर आयकर छापों की आलोचना की।

दावे और सियासी गणित के दो पहलू

पहला: पायलट का दावा है कि उनके संपर्क में 30 से ज्यादा विधायक हैं। इसे सही मानें तो गहलोत सरकारअल्पमत में आ जाएगी। कांग्रेस के 107 में से 30 विधायक इस्तीफा देते हैं तो सदन में विधायकों की संख्या 170 हो जाएगी। ऐसे में बहुमत के लिए 86 विधायकों की जरूरत होगी। 30 के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के पास 77 विधायक बचेंगे। एक आरएलडी विधायक पहले से उनके साथ है। कांग्रेस की कुल संख्या 78 होगी। यानी बहुमत से 8 कम। उधर, आरएलपी के 3 विधायक मिलाकर भाजपा के पास 75 विधायक हैं। सरकार बनाने के लिए भाजपा को निर्दलीय तोड़ने होंगे। प्रदेश के 13 निर्दलीयविधायकों में फिलहाल 10 कांग्रेस समर्थक हैं। अगर इसमें से भाजपा 8 विधायक अपनी तरफ कर ले तो अपनी सरकारबना सकती है।

दूसरा: पायलट के दावे से अलग अब तक की स्थिति में 15 कांग्रेस विधायक उनके खेमे में होने की संभावना है। अगर यह सभी विधायक इस्तीफा देते हैं तो सदन में विधायकों की संख्या 185 हो जाएगी। फिर बहुमत के लिए जरूरी आंकड़ा 93 पर पहुंच जाएगा। मौजूदा समीकरण मेंगहलोत गुट में 92 कांग्रेस विधायक हैं। एक आरएलडी विधायक उनके साथ हैं और अगर कुछ निर्दलीय गहलोत के साथ रहे तो सरकार सुरक्षित रहेगी।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें मुख्यमत्री निवास के बाहर पुलिस बल तैनात किया गया। यहां हर आने-जाने वाले की जानकारी ली जा रही है।
Read Entire Article