Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV DJ Rajasthani Travel Online Gaming Contact Us Advertise

ब्रिटेन ने लेसेस्टर शहर में लॉकडाउन लगाया, डब्ल्यूएचओ ने कहा- महामारी का सबसे बुरा दौर आना बाकी; दुनिया में संक्रमण से 5 लाख से ज्यादा मौतें

1 week ago 2
Ads By Rclipse

दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 4 लाख 07 हजार 855 हो गई है। इनमें 56 लाख 64 हजार 355 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 5 लाख 08 हजार 077 लोगों ने जान गंवाई हैं। ब्रिटेन के लेसेस्टर शहर में सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया है। यहां अन्य जगहों की तुलना में संक्रमण के मामलों में इजाफा हुआ है। उधर, डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि दुनियाभर के देशों के अर्थव्यवस्था बेहद खराब स्थिति से गुजर रही है, लेकिन अभी भी इसका सबसे बुरा दौर आना बाकी है।

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडहोनम गेब्रेसियोसिस ने सोमवार को कहा कि अगर सरकारों ने सही नीतियों का पालन नहीं किया तो और लोग संक्रमित हो सकते हैं। हम सभी चाहते हैं कि महामारी खत्म हो जाए, लेकिन हम अभी भी इससे बेहद दूर हैं।

10 देश जहां कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 26,81,811 1,28,783 11,17,177
ब्राजील 13,70,488 58,385 7,57,462
रूस 6,41,156 9,166 3,99,087
भारत 5,67,536 16,904 3,35,271
ब्रिटेन 3,11,965 43,575 उपलब्ध नहीं
स्पेन 2,96,050 28,346 उपलब्ध नहीं
पेरू 2,82,365 9,504 1,71,159
चिली 2,75,999 5,575 2,36,154
इटली 2,40,436 34,744 1,89,196
ईरान 2,25,205 10,670 1,86,180

*ये आंकड़ेhttps://www.worldometers.info/coronavirus/से लिए गए हैं।

यूएई में 1 जुलाई से धार्मिक स्थल खोले जाएंगे

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 1 जुलाई से धार्मिक स्थल खोले जाएंगे। यहां संक्रमितों की संख्या 48 हजार से ज्यादा हो गई है। वहीं, 314 लोगों की मौत हो चुकी है। अबू धाबी के एक अफसर ने कहा कि जिन यात्रियों का कोरोना टेस्ट 48 घंटे पहले निगेटिव आया है, उन्हें ही यहांआने कीइजाजत मिलेगी। 2 जून से यहां आने पर प्रतिबंध लगाया गया था।

संयुक्त अरब अमीरात में सरकार ने 1 जुलाई से मस्जिदों और अन्य धार्मिक स्थलों को खोलने की घोषणा की है। (फाइल फोटो)

चीन में मिला स्वाइन फ्लू महामारी को और बढ़ा सकता है

चीन में रिसर्चर्स ने नए प्रकार के स्वाइन फ्लू की खोज की है, जो महामारी को और बढ़ा सकता है। सोमवार को अमेरिकी साइंस जनरल पीएनएएस में यह रिपोर्ट प्रकाशित की गई थी। इसे जी4 नाम दिया गया है। जेनेटिकली यह एच1एन1 का ही स्वरूप है, जिसने 2009 में तबाही मचाई थी। रिसर्चर्स का डर है कि ये वायरस भी एक से दूसरे इंसान में फैल सकता है। इसके भी लक्षण खांसी, बुखार और छींक है।

चीन की राजधानी बीजिंग में मास्क पहने लोग ऑफिस से घर जा रहे हैं। यहां सोमवार को संक्रमण से सात नए मामले दर्ज किए गए हैं।

कैलिफोर्निया: यहां2600 कैदी संक्रमित
अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रांत की जेलों में करीब 2600 कैदी संक्रमित पाए गए हैं। गवर्नर गेविन न्यूसॉम ने मंगलवार को बताया कि इनमें से एक हजार से ज्यागा कैदी केवल सैन क्विनटिन की जेल में ही संक्रमित पाए गए हैं। कैलिफोर्निया की जेलों में करीब 1 लाख 13 हजार कैदी हैं। महामारी के चलते जेलों से अब तक करीब 3500 कैदियों को छोड़ा जा चुका है।

महामारी के बीच कैलिफोर्निया में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए जन्मदिन मनाते लोग। राज्य में अब तक 2.22 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं।

चीन: संक्रमण के 19 नए मामले
चीन में 24 घंटे के दौरान संक्रमण के 19 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें से आठ स्थानीय संक्रमण के हैं, जबकि 11 बाहर से आए मामले हैं। नेशनल हेल्थ कमीशन की ओर से मंगलवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार स्थानीय संक्रमण के मामलों में बीजिंग में सात और शंघाई में एक मामला दर्ज किया गया। इस दौरान किसी भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है।

बीजिंग में एक टेस्टिंग सेंटर पर कोरोना की जांच के लिए लाइन में लगे लोग। राजधानी में 15 जून के बाद से अब तक 300 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।

मॉस्को: 3796 लोगों की मौत
मॉस्को में 24 घंटे में कोरोनावायरस से 35 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही यहां मरने वालों की संख्या 3796 हो गई है। सभी मरीज निमोनिया से भी ग्रसित थे। एक दिन पहले मॉस्को में 23 लोगों की मौत हुई थी। देश में अब तक 6.41 लाख लोग संक्रमित हैं।

ये भी पढ़ें

दुनिया के दो बड़े देश दोबारा संकट मेंः चीन में 5 लाख लोगों पर वुहान सी सख्ती; अमेरिका में अनलॉक दो हफ्तों में ही फेल



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today लंदन के रिजेंट स्ट्रीट में लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का बोर्ड लगाकर लोगों को इसका पालन करने के लिए कहा जा रहा है। ब्रिटेन में अब तक 43 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं।
Read Entire Article