Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV FilmyBaap Travel Contact Us Advertise More From Rclipse

बॉलीवुड में थाली के झगड़े में उलझ गईं कंगना, बोफोर्स तोपों का मुंह चीन की तरफ और जिनकी मृत्यु तिथि पता नहीं, उनके लिए तर्पण का दिन आज

6 days ago 25

आज पितृमोक्ष अमावस्या है। जेईई एडवांस देने जा रहे स्टूडेंट्स के लिए भी खास दिन है। वहीं, प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन भी है, तो आइए शुरू करते हैं मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ...

आज आपके काम की 4 खबरें...

1. आज सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या है। इस तिथि पर उन मृत लोगों के लिए पिंडदान, श्राद्ध और तर्पण कर्म किए जाते हैं, जिनकी मृत्यु तिथि मालूम नहीं है।

2. जेईई एडवांस परीक्षा 2020 की एप्लीकेशन में एग्जाम सिटी च्वाइस बदलने की आखिरी तारीख है। यह बदलाव शाम 5 बजे तक किया जा सकेगा।

3. जयपुर में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर बाइक एंबुलेंस शुरू होंगी। इससे संकरी गलियों से भी मरीज को निकालना आसान होगा।

4. कोरोना के बीच राजस्थान यूनिवर्सिटी के हॉस्टल खुल जाएंगे। 18 सितंबर से फाइनल ईयर की परीक्षाएं शुरू होनी हैं।

आज ये 2 कार्यक्रम भी हैं

1. प्रधानमंत्री मोदी 70 साल के हो गए। भाजपा उनके जन्मदिन को सेवा दिवस के रूप में मना रही है।

2. ब्रिक्स देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार वर्चुअल मीटिंग करेंगे।

अब कल की 7 महत्वपूर्ण खबरें

1. कंगना अब जया बच्चन से उलझीं

बॉलीवुड में ड्रग्स की पैठ पर बयानबाजी थम नहीं रही। कंगना रनोट ने बुधवार को सपा सांसद जया बच्चन को ट्वीट से जवाब दिया, ‘कौन सी थाली दी है जया जी और उनकी इंडस्ट्री ने? यहां तो दो मिनट के रोल के लिए हीरो के साथ सोने वाली थाली मिलती थी।...यह मेरी अपनी थाली है जया जी, आपकी नहीं।’ दरअसल, भाजपा सांसद रवि किशन ने संसद में कंगना के समर्थन में बयान दिया था। इस पर जया बच्चन ने कहा था, ‘आप जिस थाली में खाते हैं, उसमें छेद नहीं कर सकते हैं।’

-पढ़ें पूरी खबर

2. बाबरी ढांचा गिराने के मामले में फैसले की घड़ी आ गई

अयोध्या में बाबरी ढांचा गिराए जाने के मामले में लखनऊ की विशेष अदालत का फैसला 30 सितंबर को आएगा। 27 साल पहले अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को कारसेवकों ने बाबरी मस्जिद को ढहा दिया था। इस मामले में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत कई बड़े नेता आरोपी हैं। सभी को फैसले के समय कोर्ट में मौजूद रहना होगा।

-पढ़ें पूरी खबर

3. बोफोर्स तोपें अब लद्दाख में तैनात होंगी

21 साल पहले पाकिस्तान के खिलाफ करगिल जंग में अहम भूमिका निभाने वाली बोफोर्स तोपें अब लद्दाख में तैनात होंगी। सेना के इंजीनियर बोफोर्स तोपों की सर्विसिंग में जुटे हैं। भारत-चीन सीमा पर पिछले 20 दिन में तीन बार गोलियां चलीं हैं। इस वजह से तनाव चरम पर है।

-पढ़ें पूरी खबर

4. एसबीआई ने एटीएम से पैसा निकालने का नियम बदला

एसबीआई के एटीएम से अब 10 हजार रुपए या इससे ज्यादा रकम ओटीपी डालने से निकलेगी। ओटीपी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आएगा। पहले यह नियम रात 10 बजे के बाद लागू होता था। 18 सितंबर से 24×7 लागू किया जा रहा है। 10 हजार रुपए से कम निकालना हो, तो पिन नंबर से काम चल जाएगा। धोखाधड़ी रोकने के लिए ऐसा किया गया है।

-पढ़ें पूरी खबर

5. मसला-ए-चीन

चीन के साथ तनाव के दौरान गलवान घाटी में गोली नहीं चली थी, लेकिन जानें गईं। उधर, पैंगॉन्ग में फायरिंग हो गई। ये हादसे और हरकतें बताती हैं कि चीन के साथ समझौते, संधियां, कवायद काम नहीं कर रहीं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को संसद में कहा था कि इस बार हालात पहले से अलग हैं। रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने इस बयान के मायने समझाए।

-पढ़ें पूरी खबर

6. राजस्थान में नाव पलटी, 11 की मौत

राजस्थान में चंबल नदी में नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई। हादसा कोटा जिले के इटावा के पास हुआ। नाव 25 लोगों का भार उठा सकती थी, लेकिन उसमें 40 लोग सवार थे। 14 बाइक भी रखी थीं। चार लड़कों ने 25 लोगों की जान बचाई। उन्होंने बताया कि मना करने के बाद भी लोग जबरदस्ती नाव पर चढ़ गए थे।

-पढ़ें पूरी खबर

7. पाकिस्तान ने भारत के 45 मछुआरे अगवा किए

पाकिस्तान ने बुधवार को भड़काने वाली हरकत की। उसकी नौसेना ने गुजरात से लगी भारतीय जल सीमा में घुसकर 8 नावों में सवार 45 मछुआरों को अगवा कर लिया। इनमें से 6 नाव पोरबंदर की और 2 वेरावल की थीं। बताया जा रहा है कि सभी मछुआरों को कराची बंदरगाह ले जाया गया है।

-पढ़ें पूरी खबर

अब 17 सितंबर का इतिहास

1630: अमेरिका के बॉस्टन शहर की स्थापना हुई।

1948: हैदराबाद रियासत का भारत में विलय हुआ।

1949: दक्षिण भारत के राजनीतिक दल द्रविड़ मुन्नेत्र कझगम (डीएमके) की स्थापना हुई।

1982: भारत और श्रीलंका (तब सीलोन) के बीच पहला क्रिकेट टेस्ट मैच खेला गया।


भारतीय चित्रकार मकबूल फिदा हुसैन का 1915 में आज ही के दिन जन्म हुआ था। वे अपनी कई पेंटिंग्स को लेकर विवादों में रहे। इसकी वजह से उन्हें अपना आखिरी वक्त ब्रिटेन में गुजारना पड़ा। पढ़ें, उन्हीं की कही दो बातें...



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें Kangana, Bollywood Bofors guns face China in the plate tussle in Bollywood and for those whose death date is not known, the day of the sacrifice
Read Entire Article