Home World Flights Hotels Shopping Web Hosting Education Pdf Books Live TV Music TV Kids TV FilmyBaap Travel Contact Us Advertise More From Rclipse

अमर सिंह ने मौत से दो घंटे पहले ट्वीट कर ईद की बधाई दी, मुलायम सिंह यादव के करीबी रहे, अमिताभ से रिश्ते खराब होने का मलाल था, पांच महीने पहले ही मांगी थी माफी

1 week ago 3

पूर्व समाजवादी नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह का 64 साल की उम्र में शनिवार को सिंगापुर में निधन हो गया। वे छह महीने से सिंगापुर के एक अस्पताल में किडनी का इलाज करा रहे थे। उन्होंने आज दोपहर आखिरी सांस ली।

मौत से दो घंटे पहले उन्होंने दो ट्वीट किए। पहले में उन्होंने ईद की बधाई दी। दूसरे में स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी। वे सपा के मुखिया मुलायम सिंह यादव और अभिनेता अमिताभ बच्चन के करीबी थी। आजमगढ़ में जन्मे अमर सिंह दोस्ती के लिए मशहूर थे। उनकी दोस्ती को याद करते हुए पीएम मोदी ने ट्वीट किया। लिखा- वे ऊर्जावान शख्सियत थे। वह अनेक वर्गों के लोगों से अपनी मित्रता के लिए भी जाने जाते थे। उनके निधन से दुखी हूं।’

दो बार पार्टी से निकाले गए, राष्ट्रीय लोक मंच बनाया था

अमर सिंह समाजवादी पार्टी के महासचिव रहे। पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के करीबी होने के बावजूद 2010 में उन्होंने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। बाद में उन्हें पार्टी से भी बर्खास्त कर दिया गया। 2011 में उन्होंने राष्ट्रीय लोक मंच बनाया था। 2012 के विधानसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश की 403 सीटों में से 360 पर अपने उम्मीदवार खड़े किए। हालांकि, उनकी पार्टी ने इन चुनावों में एक भी सीट नहीं जीती।

वे मार्च 2014 में राष्ट्रीय लोकदल पार्टी में शामिल हुए, उस साल फतेहपुर सीकरी से आम चुनाव लड़े और हार गए। इसके बाद 2016 में वे समाजवादी पार्टी से फिर जुड़ गए और राज्यसभा के लिए चुने गए। इस दौरान यादव परिवार में कलह के बाद उन्हें अखिलेश यादव ने 2017 में फिर से पार्टी से निकाल दिया था।

उद्योगपति से राजनेता बने थे
अमर सिंह का जन्म उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में 27 जनवरी 1956 में हुआ। उन्होंने बीए, एलएलबी की थी। वे उद्योगपति से राजनेता बने थे।

अमिताभ के करीबी दोस्तों में शामिल थे अमर
अमिताभ बच्चन के परिवार से भी अमर के बेहद करीबी रिश्ते रहे। पिछले कुछ सालों में इन रिश्तों में खटास जरूर आई थी। इस साल फरवरी में अमर ने एक वीडियो जारी करके अमिताभ से माफी भी मांगी थी।

3 किस्से जो चर्चा में रहे; नशे में धुत कांग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर को पीट दिया था

यह वाकया साल 2000 का है। दिल्ली में एक पार्टी में कई राजनीतिक हस्तियां मौजूद थीं। मणिशंकर शराब के नशे में धुत थे। तब वे अमर सिंह के पास गए और बोले- तुम रेसिस्ट हो। तुमने सोनिया गांधी को सिर्फ इसलिए पीएम बनने से रोका, क्योंकि वो विदेशी हैं। इस पर अमर सिंह ने कुछ देर तक चुप्पी साध ली। इसके बाद मणिशंकर अय्यर यहीं नहीं रुके, उन्होंने अमर सिंह को लगातार अपशब्द कहे। इस पर अमर सिंह ने कहा- ‘आधे घंटे का समय देता हूं। चुप हो जाओ, नहीं तो यहीं पीट दूंगा।’ लेकिन अय्यर चुप नहीं हुए और उन्होंने सपा नेता मुलायम सिंह को भी गालियां दी। इसके बाद अमर सिंह ने मणिशंकर अय्यर की गर्दन पकड़ी और उनकी पिटाई कर दी। ये किस्सा अमर सिंह ने खुद एक इंटरव्यू में सुनाया था। 2012 में अनिल अंबानी की पार्टी में जया बच्चन के साथ हुई कहा-सुनी के बाद अमर सिंह और बच्चन परिवार में दूरियां आ गई थीं। अमर ने कहा था- ‘अमिताभ ने उस झगड़े में जया का साथ दिया था। तभी से हमारे बीच दूरियां बढ़ गई थीं।’ उन्होंने आरोप लगाया था- ‘अमिताभ एक ऐसे एक्टर हैं, जो कई आपराधिक मामलों में लिप्त हैं। पनामा पेपर्स विवाद में भी उनका नाम आ चुका है।’ हालांकि, इसी साल उन्होंने एक वीडियो जारी कर उनसे माफी मांगी थी। उन्होंने कहा था- आज मेरे पिताजी की पुण्यतिथि है। इसी वजह से अमिताभ बच्चन ने मैसेज भेजा। जिंदगी के ऐसे मोड़ पर हूं, जब जीवन-मौत से संघर्ष कर रहा हूं। मैं अमित जी और उनके परिवार के प्रति बेवजह की बयानबाजी के लिए खेद प्रकट करता हूं। भगवान उन सबकी रक्षा करे।’सपा के महासचिव रहे अमर सिंह ने स्वर्गीय पिता की याद में आजमगढ़ स्थित अपनी पैतृक संपत्ति आरएसएस से जुड़ी संस्था सेवा भारती संस्थान को दान कर दी थी। पिता की मौत के बाद यह घर खाली पड़ा था। घर की कीमत करीब 15 करोड़ रुपए थी। 2018 में अमर सिंह ने कहा था- ‘संघ बड़ी संस्था है। उसे कुछ दान देना बहुत छोटी बात होगी।’

मोदी का ट्वीटः अमर सिंह जी ऊर्जावान व्यक्ति थे

मोदी ने लिखा, 'अमर सिंह जी ऊर्जावान व्यक्ति थे। वे देश में कई बड़े राजनीतिक घटनाक्रमों के साक्षी रहे। उनके दोस्त हर दल में थे। उनके देहांत से दुखी हूं। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी सांत्वना है। ओमशांति।'

Amar Singh Ji was an energetic public figure. In the last few decades, he witnessed some of the major political developments from close quarters. He was known for his friendships across many spheres of life. Saddened by his demise. Condolences to his friends & family. Om Shanti.

— Narendra Modi (@narendramodi) August 1, 2020

राजनाथ ने कहा- उनकी सभी दलों के नेताओं से दोस्ती थी

वरिष्ठ नेता एवं सांसद श्री अमर सिंह के निधन के समाचार से दुःख की अनुभूति हुई है। सार्वजनिक जीवन के दौरान उनकी सभी दलों में मित्रता थी।

स्वभाव से विनोदी और हमेशा ऊर्जावान रहने वाले अमर सिंहजी को ईश्वर अपने श्रीचरणों में स्थान दें। उनके शोकाकुल परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएँ।

— Rajnath Singh (@rajnathsingh) August 1, 2020

प्रियंका गांधी ने दुख जताया

ईश्वर श्री अमर सिंह जी की आत्मा को अपने श्रीचरणों में शरण दें। श्री अमर सिंह जी के परिवार के प्रति मेरी भावपूर्ण संवेदनाएं। मैं इस दुखद क्षण में उनकी शोक संतप्त पत्नी और बेटियों के प्रति गहरी संवेदनाएं व्यक्त करती हूँ।

— Priyanka Gandhi Vadra (@priyankagandhi) August 1, 2020

राहुल गांधी का ट्वीटः देहांत की खबर से दुखी हूं

अमर सिंह जी के देहांत की दुःखद ख़बर से स्तब्ध हूँ। उनके परिवार और प्रियजनों को संवेदनाएँ।

I am saddened to hear about the sad demise of Amar Singh ji. My condolences to his family and loved ones.

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) August 1, 2020

यह भी पढ़ें

1. मुलायम को सीएम की कुर्सी तक पहुंचाया; अखिलेश ने बताया था बाहरी व्यक्ति, आजम से हमेशा रही तल्खी

2. मुलायम सिंह यादव के लिए कहा था- एकलव्य बनकर संतुष्ट हूं, लेकिन अपना अंगूठा नहीं दूंगा; अमर सिंह के ये बयान चर्चा में रहे



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें Amar Singh Death Update | Rajya Sabha MP Amar Singh passes away at 64 In Singapore
Read Entire Article